अन्य पराविद्याएं


पुनर्जन्म – हकीकत या फसाना

हिंदी गीतों में अक्सर सुना जाता है – सौ बार जन्म लेंगे। ” या “ जन्म जन्म का साथ है ” क्या ये संभव है? क्या बार बार जन्म मिलता है? किसी भी प्राणी की मृत्यु के पश्चात भी क्या कुछ ऐसा है जो शेष रह जाता है? क्या नश्वर शरीर में भी कोई ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 12676

मेरा नाम भीम नहीं है

मेरा नाम भीम नहीं है

फ्यूचर समाचार

पुनर्जन्म की पहली घटना, सबसे पहले मैंने अपने ही गांव महारहा, तहसील – बिन्दकी, जिला – फतेहपुर (उ.प्र.) में सुनी थी। इस घटना का तथ्यपरक, वैज्ञानिक अध्ययन अभी तक किसी परामनोविज्ञानी द्वारा नहीं हो सका है क्योंकि इस घटना की जानकारी... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 8044

पूर्वापर जन्म एवं उसकी तथ्यपरकता

भारतीय संस्कृति की “जैसी करनी वैसी भरनी” उक्ति और जोड़ दी जाये –इस जन्म नहीं तो अगले जन्म सही” तो यह पूर्ण ह जायेगी । परलोक के बनने – बिगडने के भय से, पाप – पुन्य के डर से लोग परंपरागत नैतिक एवं सामजिक मूल्यों का... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 7222

जीवात्मा का परलोक गमन व पुनर्जन्म

जहां पूर्व जन्म और पुनर्जन्म इस जीवन रूपी सरिता के दो तट हैं, वहीँ इन दोनों के बीच की कुछ अवधि प्रत्यक्ष शरीर की रूप-रेखा से दूर रहती है। जीव की यही अवस्था प्रेत योनी कहलाती है। इस योनी के क्या मूलभूत कारण और ज्योतिषीय योग हैं और ... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 16925

पूर्व जन्म व पुनर्जन्म के विषय में ज्योतिषीय नियम

मृत्यु उपरांत जीवन की कैसी गति होगी, इसके लिये कुंडली के द्वादश भाव, द्वादशेश तथा इन्हें प्रभावित करने वाले ग्रहों पर विचार करना होगा। द्वादशेश यदि उच्च राशि, स्वराशि, मित्र राशि व् सौम्य ग्रहों के वर्गों में हो तो जीव की सदगति... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 9441

ज्योतिष में पूर्वजन्म व् पुनर्जन्म

भारतीय ज्योतिष एवं समाज पूर्ण रूप से पुनर्जन्म के सिद्धांत पर विश्वास करता है। यह माना जाता है की हमारा यह जन्म हमारे पूर्वजन्मों में किये हुए कर्मों के आधार पर ही हमें मिलता है। तथा इस जन्म में किये जाने वाले कर्मों के आधार पर ही... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 14642

क्या है इस जन्म का कारण

इस संसार में प्रत्येक जातक अपने पूर्व जन्मों में किए गए कर्मों के आधार पर ही जीवन पाता है अर्थात जन्म लेता है। पूर्व में किए गए कर्मों (संचित कर्मों) में से कुछ कर्मों कोलेकर ही जातक इस धरती पर प्रकट होता है। जैसे कर्म उसने उस जन्... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 21913

आपकी कुंडली में छिपा है पूर्वजन्म का रहस्य

जीवात्मा का एक देह से दूसरी देह में जन्म लेना वैसा ही है, जैसे मनुष्य पुराने वस्त्र त्याग कर दूसरे नए वस्त्र धारण करता है। इसी प्रकार जीवात्मा भी नया शरीर धारण करती है। शरीर का नाश होता है। आत्मा का नहीं। पुराणों के अनुसार... और पढ़ें

ज्योतिषअन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 52301

मृत्यु से पुनरुत्थान तक के सिद्धांत

कब्रिस्तान से मुर्दों के पुन: उठाने का नाम कयामत है। ईसाई तथा पारसी धर्म के तीन मुख्य सिद्धांत है। म्रृत्यु से पुनरुत्था, ईश्वर से न्याय प्राप्त करना तथा पुरूस्कार अथवा दंड भुगतना। इस प्रकार का पुनरुत्थान केवल आत्मा का ही है। परन्... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 8662

अन्य धर्म भी मानते हैं, पुनर्जन्म का सत्य

भारतीय धर्म दर्शन में आत्मा की अमरता एवं पुनर्जन्म की सुनिश्चितता को प्राम्भ से ही मान्यता प्राप्त है। श्रीमदभगवदगीता में कहा गया है-जैसे मनुष्य पुराने वस्त्र को त्याग कर नए वस्त्र धारण करता है। उसी प्रकार यह जीवात्मा भी पुराने शर... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 8218

आखिरी पलों का हाले बयां एवं पुनर्जन्म

मनुष्य अंतिम क्षण में क्या देखता है? क्या इन सब बातों को सुनकर भी हम मृत्यु को जीवन का अंत मान सकते है। इस विषय में जो सर्वेक्षण और अनुसंधान किये गए हैं उनसे सिद्ध होता है की कोई एसी अलौकिक शक्ति अवश्य है जो मृत्यु... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 8672

पूर्वजन्म, पुनर्जन्म : कर्मों का क्रेडिट-डेबिट खाता

हम सभी जाने-अनजाने जो भी कार्य करते है, वे कर्म कहलाते है, अच्छे आशय से किये गए कर्म सत्कर्म तथा दुर्भाव से किये गए कर्म दुष्कर्म कहे जाते है। अच्छे और बुरे सभी कर्म सुख-दुःख में परिवर्तित होते है। प्रयेक कर्म का फल सम्बंधित व्यक्... और पढ़ें

अन्य पराविद्याएं

सितम्बर 2011

व्यूस: 5776

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)