सानिया - शोएब विवाह क्या कहते हैं ग्रह

सानिया का जन्म 15 नवंबर 1986 को प्रातः 11 बजकर 28 मिनट पर मुंबई में हुआ। जन्म के समय उन पर आरंभ हुई शुक्र की महादशा 25 अगस्त 2004 तक रही।... और पढ़ें

ज्योतिषप्रसिद्ध लोगज्योतिषीय विश्लेषणज्योतिषीय योगदशाकुंडली व्याख्याविवाहभविष्यवाणी तकनीकगोचर

मई 2010

व्यूस: 2710

आजीवन साथ रहने के वायदे करने के बाद भी क्यों होता है तलाक?

वैवाहिक जीवन पति-पत्नी का धर्म सम्मत समवेत संचरण है। इसी मन्तव्य से विवाह संस्कार में वर-वधू आजीवन साथ रहने और कभी वियुक्त नहीं होने के लिए प्रतिश्रुत कराया जाता है:... और पढ़ें

ज्योतिषविवाहभविष्यवाणी तकनीक

जनवरी 2015

व्यूस: 6443

ऐसे करें जीवनसाथी का चुनाव

फ्यूचर समाचार के पिछले अंक में जन्मतिथि के अनुसार तत्व ज्ञात करना बताया गया। जिस व्यक्ति का जो तत्व होता है उस तत्व की ही उसके जीवन में प्रधानता होती है। इन पंचतत्वों में से कुछ आपस में मित्र होते हैं तो कुछ शत्रु अथवा सम। अतः जीव... और पढ़ें

ज्योतिषकुंडली मिलानविवाह

अप्रैल 2014

व्यूस: 6823

दाम्पत्य सुख

दाम्पत्य सुख

नीरज शर्मा

जन्म पत्रिका में संयम और बौद्धिकता से यदि तलाशा जाये तो ग्रह-नक्षत्रों के ऐसे अनेक संयोग मिल जाएंगे जो लड़कियों का विवाह करवाने, न करवाने अथवा विलंब आदि से करवाने के संकेत देते हैं। ग्रह-गोचर आदि की सूक्ष्म गणनाओं से विवाह की समयाव... और पढ़ें

ज्योतिषविवाह

मार्च 2014

व्यूस: 6710

बहुविवाह एवं बहुविवाह योग पर विचार

प्राचीन में बहुविवाह को अधिक मान्यता थी। इस समय अनेक राजा-महाराजाओं ने अनेकों पत्नियां, दासियां रखते थे। जहां तक देवता भी अनेक पत्नियां व पटरानियां रखते थे। स्वयं भगवान राम के पिता जनक के तीन रानियां थी। कृष्ण ने कई रानियां व सैकड़... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगविवाहभविष्यवाणी तकनीक

जनवरी 2007

व्यूस: 6112

एकाधिक वैवाहिक संबंध के ज्योतिषीय आयाम

ज्योतिष के क्षेत्र में कार्यरत सभी महानुभावों के पास आम लोग किसी न किसी समस्या को लेकर आते रहते हैं। समस्याएं अधिकतर व्यक्ति के व्यवसाय, विवाह, बच्चे, स्वास्थ्य एवं आर्थिक पहलुओं से संबंधित होती हैं। परंतु अभी कुछ समय से जिस समस्य... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगविवाहभविष्यवाणी तकनीक

जनवरी 2007

व्यूस: 6708

प्रेमविवाह के ज्योतिषीय योग

प्रेम विवाह कराने वाले निम्नलिखित योग होते हैं। जिनका वर्णन कर रहा हूं। Û द्वादशेश तथा द्वितीयेश का आपस में स्थान परिवर्तन योग। Û द्वितीयेश तथा द्वादशेश की पहले, दूसरे, पांचवें या 12वें भाव में युति। Û पंचमेश व सप्तमेश की पहले... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगविवाहभविष्यवाणी तकनीक

जनवरी 2007

व्यूस: 7046

क्यों नहीं है विवाह का सुख ?

हस्तरेखा शास्त्र के आधार पर हाथ की रेखाओं से जीवन के सभी रंग सामने आ जाते हैं लेकिन आइए जानें किन विषम रेखाओं के कारण मनचाहे साथी से विवाद होने के बाद भी समस्त वैवाहिक जीवन उतार-चढ़ाव के भंवर में फंसकर दुखपूर्ण हो जाता है।... और पढ़ें

हस्तरेखा शास्रविवाहग्रह पर्वत व रेखाएंभविष्यवाणी तकनीक

फ़रवरी 2011

व्यूस: 10820

विवाह संस्कार - ज्योतिषीय पृष्ठभूमि व सिद्धिदायक उपाय

विवाह गृहस्थ आश्रम अर्थात वंशवृक्ष की वाटिका में प्रवेश करने का प्रथम सोपान है। इस मधुर सौभाग्य की प्राप्ति हेतु हर युवा स्वप्न की कल्पनाओं में सर्वदा लीन रहता है। परंतु कल्पनाओं के इस क्रम में कुछ ऐसे सौभाग्यशाली हैं जिनकी ये आशा... और पढ़ें

ज्योतिषभवनविवाह

मार्च 2014

व्यूस: 7080

वरुण-यामिनी का दाम्पत्य जीवन

नेहरु परिवार की अब तक की परंपरा में कुल मिलाकर दाम्पत्य संबंधी श्रेष्ठ परिणाम दूर ही रहे हैं। हाल ही में एक लंबे अरसे के बाद 6 मार्च 2011 को वरुण-यामिनी का दाम्पत्य संबंध भविष्य में किस प्रकार व क्या क्या परिवर्तनों का आगाज करेगा,... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगकुंडली व्याख्याघरविवाहग्रहभविष्यवाणी तकनीक

अप्रैल 2011

व्यूस: 6217

विवाह रेखा ही बता देती है विवाह सुख

हथेली में विवाह रेखा बहुत ही छोटी होती है परंतु व्यक्ति के जीवन में बहुत प्रभावशाली होती है। हाथ की रेखाओं का अध्ययन करते समय हम विवाह रेखा की उपेक्षा नहीं कर सकते। हृदय रेखा एवं जीवन रेखा की तरह यह रेखा इतनी गहरी एवं बड़ी नहीं होत... और पढ़ें

हस्तरेखा शास्रविवाहभविष्यवाणी तकनीक

जुलाई 2011

व्यूस: 148518

विवाहेतर संबंध पर ज्योतिषीय दृष्टिकोण

विवाहेतर संबंधों पर ज्योतिषशास्त्र के अनुसार निम्नलिखित ग्रहयोग प्रभावी होते हैं- विŸाास्तारिपभार्गवास्तनुगताः पापान्विताः कामुकः। पापत्यौमचरान्वितौ तनुरिपुस्थानाधिपौ चेतथा।। (जा.पा.) द्वितीयेश, सप्तमेश, षष्ठेश और शुक्र पापग्रह... और पढ़ें

ज्योतिषज्योतिषीय योगविवाहभविष्यवाणी तकनीक

जनवरी 2007

व्यूस: 17364

Ask a Question?

Some problems are too personal to share via a written consultation! No matter what kind of predicament it is that you face, the Talk to an Astrologer service at Future Point aims to get you out of all your misery at once.

SHARE YOUR PROBLEM, GET SOLUTIONS

  • Health

  • Family

  • Marriage

  • Career

  • Finance

  • Business

लोकप्रिय विषय

करियर बाल-बच्चे चाइनीज ज्योतिष दशा वर्ग कुंडलियाँ दिवाली डऊसिंग सपने शिक्षा वशीकरण शत्रु यश पर्व/व्रत फेंगशुई एवं वास्तु टैरो रत्न सुख गृह वास्तु प्रश्न कुंडली कुंडली व्याख्या कुंडली मिलान घर जैमिनी ज्योतिष कृष्णामूर्ति ज्योतिष लाल किताब भूमि चयन कानूनी समस्याएं प्रेम सम्बन्ध मंत्र विवाह आकाशीय गणित चिकित्सा ज्योतिष Medicine विविध ग्रह पर्वत व रेखाएं मुहूर्त मेदनीय ज्योतिष नक्षत्र नवरात्रि व्यवसायिक सुधार शकुन पंच पक्षी पंचांग मुखाकृति विज्ञान ग्रह प्राणिक हीलिंग भविष्यवाणी तकनीक हस्तरेखा सिद्धान्त व्यवसाय पूजा राहु आराधना रमल शास्त्र रेकी रूद्राक्ष श्राद्ध हस्ताक्षर विश्लेषण सफलता मन्दिर एवं तीर्थ स्थल टोटके गोचर यात्रा वास्तु परामर्श वास्तु दोष निवारण वास्तु पुरुष एवं दिशाएं वास्तु के सुझाव स्वर सुधार/हकलाना संपत्ति यंत्र राशि
और टैग (+)